शनिवार, मई 21

???


जवाबों की भीड़ में उलझे हुए सवाल हैं,
ज़िन्दगी का मतलब क्या है?
खुदा किस मज़हब की जागीर है?
असल बन्दगी का मतलब क्या है?
गर खुदा मोहब्बत है तो आखिर 
मोहब्बत का मतलब क्या है?
एक टिप्पणी भेजें

    उसकी रूह से लिखी गयी थी किताब, इसमें कोई शक़ नहीं, मगर उसे किसी क़ायदे-ओ-क़िताब में बाँधने का, किसी को हक़ नहीं!